healthtipsinhindi

Health Tips in Hindi-

Health News: अब बासी मिठाई नहीं बेच पाएंगे दुकानदार, सरकार लाई है नया कानून

Health News
Spread the love

Health News: अक्सर जब भी हम मिठाई खरीदने जाते हैं तो ये संशय रहता है की कहीं दुकानदार हमें बासी और खराब मिठाई ना तोल दे. कई बार कुछ दुकानदार खराब और बासी मिठाई को ही ताजा कहकर बेच देते हैं. लेकिन अब आगे से ऐसा नहीं हो पाएगा. क्योंकि अब सरकार एक ऐसा नया कानून (New Sweets Rule) लेकर आई है जिससे आपको बासी मिठाई की चिंता नहीं करनी होगी. इस नियम का पालन ना करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

Health News in Hindi

मिठाई की दुकानों पर दिखने वाली मनमोहक और आकर्षक मिठाइयों को देखकर हर किसी के मुंह में पानी आ जाता है. लेकिन क्या आप जानते हैं की कई बार यही मिठाई आपकी सेहत पर भारी पड़ जाती है. क्योंकि खुली मिठाइयां कई बार बासी और खराब होने के बाद भी दुकानदार कुछ पैसे के लालच में आपकी सेहत से खिलवाड़ करने से बाज नहीं आते. लेकिन अब ऐसा नहीं हो पाएगा.

क्योंकि अब नए नियम (Health News) के तहत मिठाई की दुकानों को जल्द ही अपने काउंटर पर रखी खुली मिठाईयों की एक्सपायरी डेट भी लिखनी होगी. FSSAI (भारतीय खाद्य सुरक्षा और मानक प्राधिकरण) ने अपने एक नोटिफिकेशन में इस बाबत जानकारी दी. एफ़एसएसएआई ने कहा है की मिठाई की सभी दुकानों को दुकान बिकने वाली मिठाईयों के बनने और खराब होने की तारीख की जानकारी देना अनिवार्य होगा.

अपने आदेश में FSSAI ने कहा की उसे काफी समय से एक्सपायर्ड और बासी मिठाई की बिक्री की शिकायतें मिल रही थी, जो संभावित स्वास्थ्य खतरा है. खाद्य सुरक्षा और सार्वजनिक हित को ध्यान में रखते हुए यह नया कानून (New Sweets Rule) लागू किया गया है. FSSAI ने कहा की बिना पैकिंग वाली मिठाइयों के मामले में मिठाई की दुकानों पर बिकने वाली मिठाई की ‘मेन्युफेक्चर डेट’ और ‘एक्सपायरी डेट’ के बारे में जानकारी देना 1 जून 2020 से जरूरी होगा.

Health News

आपको बता दें की खाद्य सुरक्षा और मानक (पैकेजिंग और लेबलिंग) विनियम, 2011 के मुताबिक ये नियम इससे पहले सिर्फ पैकिंग वाली मिठाइयों पर ही लागू होता था. अब इस नियम को खुली मिठाइयों की बिक्री पर भी लागू किया जाएगा. साल 2019 में भी एफ़एसएसएआई (FSSAI) ने पारंपरिक भारतीय दुध के उत्पादों पर एक मार्गदर्शन नोटिफिकेशन जारी किया था. जिसमें कई प्रकार की मिठाइयों की शेल्फ लाइफ को भी सूचीबद्ध किया था. इस नियम (Health News) के मुताबिक, दो दिनों के अंदर ही रसगुल्ला, बादाम दूध, रसमलाई और राजभोग जैसी मिठाइयों को खत्म करने की सिफारिश की गई थी.